VHP का अध्यक्ष कोकजे, पहली बार हुआ चुनाव हुआ

52 सालों में पहली बार अध्यक्ष पद के लिए चुनाव हुआ. अब तोगड़िया को लेकर विहिप में एकमत नहीं रह गया है. विहिप ने इस बात पर भी मंथन किया था कि क्या अब तोगड़िया हिंदुत्व के एजेंडा को आगे ले जाने में सक्षम हैं.

नई दिल्ली: VHP में अध्यक्ष पद के लिए पहली बार हुए चुनाव में विष्णु सदाशिव कोकजे को वीएचपी का नया अध्यक्ष चुना गया है. सदाशिव कोकजे ने प्रवीण तोगड़िया गुट के नेता राघव रेड्डी को हराकर अध्यक्ष पद पर कब्जा जमाया है. विहिप के तमाम सदस्य भुवनेश्वर में इकट्ठा हुए, लेकिन अध्यक्ष के पद पर सहमति नहीं बन पाई, जिस वजह से 52 सालों में पहली बार अध्यक्ष पद के लिए चुनाव हुआ. अब तोगड़िया को लेकर विहिप में एकमत नहीं रह गया है. विहिप ने इस बात पर भी मंथन किया था कि क्या अब तोगड़िया हिंदुत्व के एजेंडा को आगे ले जाने में सक्षम हैं.
अध्यक्ष पद पर चुने गए विष्णु सदाशिव कोकजे हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल और मध्य प्रदेश हाईकोर्ट के जज रह चुके हैं. चुनाव में प्रवीण तोगड़िया ने सदाशिव कोकजे का विरोध करते हुए राघव रेड्डी को समर्थन देने का ऐलान किया था. दरअसल कोकजे को आरएसएस के खेमे का माना जाता है, जबकि राघव रेड्डी प्रवीण तोगड़िया गुट के हैं. पिछले साल आरएसएस ने दिसंबर महीने में जब कोकजे के नाम को आगे बढ़ाया.

Leave a Comment