चालू वित्त वर्ष: रिजर्व बैंक की आशंका, बढ़ सकती है महंगाई

यूरोपियन सेंट्रल बैंक 14 दिसंबर को ब्याज दरों पर अपने फैसले की घोषणा करेगी. घरेलू शेयर बाजारों में आने वाले हफ्ते में महंगाई के आंकड़े से निवेशकों का रुख तय होगा.

नई दिल्ली: घरेलू स्तर पर 12 दिसंबर को औद्योगिक उत्पादन और खुदरा महंगाई के तथा 14 दिसंबर को थोक महंगाई के आंकड़े आने हैं. रिजर्व बैंक ने आशंका जताई है कि चालू वित्त वर्ष में आगे महंगाई बढ़ सकती है. इससे भी निवेशकों की धारणा प्रभावित होगी। इसके अलावा आने वाले सप्ताह में 12 और 13 दिसंबर को अमेरिकी फेडरल रिजर्व की बैठक होनी है. दो दिवसीय बैठक में ब्याज दरों में बढ़ोतरी की पूरी संभावना मानी जा रही है. फेड के फैसले के साथ आने वाले समय में ब्याज दरों को लेकर उसके रुख पर भी निवेशकों की नजर रहेगी.
यूरोपियन सेंट्रल बैंक 14 दिसंबर को ब्याज दरों पर अपने फैसले की घोषणा करेगी. घरेलू शेयर बाजारों में पिछले सप्ताह जबरदस्त तेजी के बाद आने वाले हफ्ते में महंगाई के आंकड़े और अमेरिकी फेडरल रिजर्व के नीतिगत ब्याज दरों पर होने वाले फैसले से निवेशकों का रुख तय होगा. बीते सप्ताह बीएसई का सेंसेक्स 1.27 प्रतिशत यानी 417 अंक की बढ़त के साथ सप्ताहांत पर 33,000 के पार पहुंच गया. वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी में भी 1.42 प्रतिशत यानी 144 अंक की बढ़त देखी गई. अगले हफ्ते कच्चे तेल की कीमतों के प्रदर्शन के आधार पर भी बाजार की दिशा तय होगी. इसके अलावा निवेशकों की गुजरात विधानसभा चुनाव, वैश्विक बाजारों के प्रदर्शन, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों और घरेलू संस्थापक निवेशकों द्वारा किए गए निवेश और डॉलर के खिलाफ रुपये की चाल पर भी होगी.

Leave a Comment