राष्ट्रमंडल सम्मेलन का आयोजन, बड़ी हस्तियों ने लिया भाग

बिहार में पहली बार राष्ट्रमंडल संसदीय संघ के भारत प्रक्षेत्र का सम्मलेन शुरू हुआ. लोकसभा अध्यक्ष तथा कॉमनवेल्थ पार्लियामेन्ट्री एसोसिएशन (सीपीए) भारत प्रक्षेत्र की अध्यक्ष सुमित्रा महाजन की अध्यक्षता में कार्यकारी समिति की बैठक के साथ ही ऐतिहासिक नगरी पाटलिपुत्र में चार दिवसीय सम्मेलन की शुरुआत हुई.

पटना: राष्ट्रमंडल संसदीय संघ सम्मेलन में लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि लोकतंत्र में विधायिका और न्यायपालिका की भूमिका महत्वपूर्ण हैं. केवल कानून और योजना बनाने से नही, बल्कि उसे अंतिम परिणाम तक पहुंचाना होगा। इसमें जनप्रतिनिधियों की बड़ी भूमिका होती है. इस कार्यक्रम में कई बड़ी बड़ी हस्तियों ने भाग लिया और अपने विचार रखे. इसमें लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा विकास में कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए। जिस प्रकार भगवान बारिश सबके लिए करता है, उसी प्रकार विकास सभी को ध्यान में रख कर करना चाहिए. बैठक के बाद लोस अध्यक्ष समित्रा महाजन ने कहा कि पटना में हो रहे दिवसीय सम्मेलन महत्वपूर्ण है. इसमें हुए निर्णयों पर सीपीए के हर सदस्य देशों में चर्चा होगी. सम्मेलन के हर मिनट की कार्रवाई का ब्यौरा सीपीए मुख्यालय को भी भेजा जाएगा.
इस कार्यक्रम का आयोजन ज्ञान भवन में हो रहा है. वहीं विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने कहा बिहार गरीब जरूर है पर बौद्धिक और ज्ञान की भूमि रही है. बिहार की विधायिका ने कई ऐतिहासिक निर्णय लिया है. राष्ट्रमंडल संघ सम्मेलन में स्वागत भाषण दिया। पटना में हो रही मीटिंग इंडिया रीजन की मीटिंग है. इसमें शामिल होने के लिए सीपीए की इंटरनेशनल चेयरपर्सन कैमरून की स्पीकर एलीमिया लिफाका और जेनरल सेक्रेटी आए हैं.

Leave a Comment