गुरुजी की पालकी को तख्त साहिब में प्रवेश, उमड़ा आस्था का सैलाब

शोभायात्रा का नेतृत्व केन्द्रीय मंत्री एसएस अहलुवालिया, तख्तश्री हरिमंदिरजी प्रबंधक कमेटी के प्रधान सरदार अवतार सिंह मक्कड़, महासचिव सरजिंदर सिंह, सचिव महेन्द्र सिंह छावड़ा, आरएस जीत, गुरेन्द्रपाल सिंह आदि ने किया.

पटना: गुरु गोविन्द सिंह महाराज 351 वें प्रकाशोत्सव की शोभा यात्रा में देश-विदेश से आए हजारों श्रद्धालु, बैंड बाजे, कीर्तन मंडलियां, हाथी-घोड़े, ऊंट, स्कूली बच्चों का मार्च पास्ट, करतब दिखाते कलाकारों संग पंच प्यारे व झूलते निशान साहिब की अगुआई में गुरुग्रंथ साहिब की पालकी चल रही थी. अशोक राजपथ होते हुए नगर कीर्तन देर शाम तख्त साहिब पहुंचा जहां श्रद्धालुओं द्वारा स्वागत किया गया. पंच प्यारे की अगुआई में गुरुजी की पालकी को तख्त साहिब में प्रवेश कराया गया. इसको लेकर रास्ते की सफाई कर फूल बिछाए गए थे। श्रद्धालुओं ने पुष्पवर्षा कर पालकी का स्वागत किया. अपार जनसमुह वाहे गुरुजी का खालसा, वाहे गुरजी की फतेह का जयकारा लगाने लगे. जत्थेदार ज्ञानी इकबाल सिंह गुरुग्रंथ साहिब को लेकर दरबार साहिब की ओर गए.
नगर कीर्तन के दौरान रास्ते में श्रद्धालुओं द्वारा लगाये जा रहे वाहे गुरु जी का खालसा, वाहे गुरु जी की फतेह, सतनाम् वाहे गुरु, देहि शिवा वर मोहि एहै सत करमन से कबहुं न टरुं आदि नारों से वातावरण गूंजायमान हो उठा. शोभायात्रा का नेतृत्व केन्द्रीय मंत्री एसएस अहलुवालिया, तख्तश्री हरिमंदिरजी प्रबंधक कमेटी के प्रधान सरदार अवतार सिंह मक्कड़, महासचिव सरजिंदर सिंह, सचिव महेन्द्र सिंह छावड़ा, आरएस जीत, गुरेन्द्रपाल सिंह आदि ने किया. मौके पर प्रो. लालमोहर उपाध्याय द्वारा लिखित पुस्तिका गोविंद महिमा का विमोचन एसएस अहलुवालिया ने किया.

Leave a Comment