रेलवे स्टेशन पर हमला, सिग्नलिंग पैनल को फूंका

घटना के बाद भागलपुर-किऊल रेलखंड पर ट्रेनों की आवाजाही बाधित रही. लेकिन सिग्लनिंग पैनल को कुछ देर बाद ठीक कर लिया गया.

पटना: मुंगेर जिले में नक्सलियों ने रात जमालपुर-किऊल रेलखंड में स्थित मसूदन रेलवे स्टेशन पर हमला कर दिया. साथ ही वहां मौजूद एसिस्टेंट स्टेशन मास्टर और पोर्टर को अगवा भी कर लिया. मिली जानकारी के अनुसार, हमला देर रात करीब 11.30 पर हुआ. नक्सलियों ने रेलकर्मियों को अगवा करने के साथ सिग्नलिंग पैनल भी फूंक दिया. घटना के बाद भागलपुर-किऊल रेलखंड पर ट्रेनों की आवाजाही बाधित रही. लेकिन सिग्लनिंग पैनल को कुछ देर बाद ठीक कर लिया गया और ट्रेनों की आवाजाही फिर से शुरू कर दी गई. वहीं अगवाह असिस्टेंट स्टेशन मास्टर ने मालदा डीआरएम को फोन कर बताया है कि नक्सलियों ने धमकी दी है कि अगर मसूदन ट्रैक पर ट्रैनों की आवाजाही नहीं रुकी तो वो उसे मार देंगे. पूर्वी रेलवे के सीपीआरो राजेश कुमार ने बताया कि पूर्वी रेलवे ने मालदा डिविजन के किऊल-जमालपुर-भागलपुर सेक्शन में तीन ट्रेनों को रोक दिया है. किऊल प्वाइंट पर एक बार फिर सुविधाएं रोक दी गई हैं.
इस बारे में पूछे मुंगेर के रेल एसपी शंकर झा से बात किए जाने पर उन्होंने बताया कि नक्सली हमले की खबर मिलते ही रेल अधिकारी मौके पर पहुंच गए और इन अगवा कर्मियों को छुड़ाने की कोशिश की जा रही है. नक्सलियों द्वारा अगवा कर्मियों के बारे पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि इनमें मधुसूदन स्टेशन के एएसएम मुकेश कुमार और पोर्टर निरेंद्र मंडल शामिल हैं. बिहार के इस नक्सल प्रभावित इलाके में पहले ही हमले का अलर्ट जारी कर पुलिस और सुरक्षा बलों चौकस रहने को कहा गया था. ऐसे में यह हमला पुलिस और प्रशासन की तरफ से बड़ी चूक की ओर इशारा करती है.

Leave a Comment