हर्षोल्लास का त्योहार, रंगों से भरा मनमोहक होली

रंग वाली होली 2 मार्च 2018 को मनाई जाएगी. 1 मार्च को होलाष्टक समाप्ति के साथ होलिका दहन होगा और 2 मार्च को रंगों के साथ त्योहार मनाया जाएगा. लोगों का मानना है कि इस दिन लोग आपस के मन मुटावों को भूलकर आपस में प्रेम भी भावना से आपस में मिलते हैं

Leaks: भारत ही नहीं विदेशों में भी होली का त्योहार हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है. होलिका दहन जिसे छोटी होली भी कहा जाता है, कई स्थानों पर इसे होलिका दीपक भी कहा जाता है. इसे होली से एक दिन पहले मनाया जाता है. होली के त्योहार को बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाया जाता है. कहा जाता है कि होली शब्द हिरण्याकश्यप की बहन होलिका के नाम पर पड़ा है. होलिका ने अपने भाई की बात मानते हुए हिरण्याकश्यप के बेटे प्रह्लाद को लेकर होलिका चिता पर बैठ गई थी. लेकिन भगवान विष्णु की कृपा से होली जल कर भस्म हो गई और प्रह्लाद का बाल भी बांका नहीं हुआ. तभी से इस त्योहार को बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाया जाता है. इसके साथ ही इस त्योहार को प्रेम के त्योहार के रूप में लोग मनाते हैं.
इस बार होलिका दहन का मुहूर्त शाम 6.26 मिनट से लेकर 8.55 मिनट तक है. होलिका से जुड़ी अलग-अलग परंपरा है. कहीं-कहीं होलिका की आग घर ले जाई जाती है. उस आग से घर में रोटी बनाने को शुभ माना जाता है. रंग वाली होली 2 मार्च 2018 को मनाई जाएगी. रंग, गुलाल से भरा मस्ती में रचा-बसा मनमोहक पर्व है होली. इस वर्ष यह 2 मार्च 2018 को मनाया जाएगा अर्थात् 1 मार्च को होलाष्टक समाप्ति के साथ होलिका दहन होगा और 2 मार्च को रंगों के साथ त्योहार मनाया जाएगा. लोगों का मानना है कि इस दिन लोग आपस के मन मुटावों को भूलकर आपस में प्रेम भी भावना से आपस में मिलते हैं और अपने पुराने गिले शिकवों को भुला देते हैं.

Leave a Comment