सामाजिक अभियान में बनी मानव श्रृंखला, जगह-जगह लोगों की कतारें

मानव श्रृंखला, नेशनल हाइवे, स्टेट हाइवे, जिला, प्रखंड, पंचायत, गांवों की विभिन्न सड़कों और पगडंडियों से होकर गुजरी. इसमें 4.25 से 4.5 करोड़ लोगों के शामिल होने की उम्मीद है. मानव शृंखला को लेकर 11 से 2 बजे तक पूरे राज्य में यातायात व्यस्था नियंत्रित रही

पटना: राज्यभर के लोग 12 से 12.30 बजे तक आधे घंटे कतार में एक-दूसरे का हाथ थामकर बिहार सरकार के इस सामाजिक अभियान को अपना समर्थन दिया. बाल विवाह और दहेज के खिलाफ रविवार को राज्यव्यापी मानव श्रृंखला बनी. यह मानव श्रृंखला, नेशनल हाइवे, स्टेट हाइवे, जिला, प्रखंड, पंचायत, गांवों की विभिन्न सड़कों और पगडंडियों से होकर गुजरी. इसमें 4.25 से 4.5 करोड़ लोगों के शामिल होने की उम्मीद है. मानव शृंखला को लेकर 11 से 2 बजे तक पूरे राज्य में यातायात व्यस्था नियंत्रित रही. जरूरी सेवाओं एम्बुलेंस, रोगी वाहन, मीडिया, वीवीआईपी को इससे छूट थी.
बिहार में जगह-जगह सड़कों पर लोगों की कतारें लगनी शुरू हुई. बाल विवाह और दहेज के खिलाफ मानव शृंखला बना रहे हैं. पटना में मानव श्रृंखला के लिए कतारें लगनी शुरू हुई. पटना का हर चौथा व्यक्ति मानव श्रृंखला में शामिल हो रहा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मानव श्रृंखला की शुरुआत करने के लिए गांधी मैदान पहुंचे. यहां 50-50 गुव्वारों के 100 गुच्छों को आसमान में उड़ाकर शुरुआत की. 12:30 बजे मानव श्रृंखला का समापन हुआ, जिसके बाद लोगों ने घर लौटना शुरू किया. (इनपुट- हिन्दुस्तान)

Leave a Comment