भारत बंद का आह्वान, व्‍यापक असर

अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 में संशोधन को वापस लेकर एक्ट को पहले की तरह लागू किया जाए.

नई दिल्ली: कई दलित संगठनों ने भारत बंद का आह्वान किया है. भारत बंद को कई राजनीतिक पार्टियों और कई संगठनों ने समर्थन भी दिया है. संगठनों की मांग है कि अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 में संशोधन को वापस लेकर एक्ट को पहले की तरह लागू किया जाए. दलित संगठनों के विरोध का सबसे अधिक असर पंजाब में पड़ने की संभावना है, जिसकी वजह से राज्य के सभी शिक्षण संस्थान, सार्वजनिक परिवहन को आज बंद रखा गया है. इस वजह से राज्य में आज होने वाले सीबीएसई के बोर्ड के पेपर रद्द कर दिए हैं. बंद का भोजपुर में भी दिख असर, सड़क पर पसरा रहा सन्नटा, सभी दुकानें बंद और परिचालन भी हुआ ठप. बिहार के अररिया सीपीआईएमएल के कार्यकर्ताओं ने आरा ब्‍लॉक पर ट्रेन को रोका. पंजाब के अमृतसर में व्‍यापक असर, बाजार बंद और सुरक्षाबल तैनात. ओडिशा से संभलपुर में ट्रेन रोककर किया प्रदर्शन.

Leave a Comment