एनर्जी से भरपूर केला, रोगियों को देता है आराम

केले के सेवन के साथ वर्कआउट करना जरूरी होता है. यदि आप वर्कआउट कम और केले का सेवन तय मात्रा से ज्यादा करते हैं तो आपके शरीर पर चर्बी बढ़ सकती है. रिसर्च से साफ हुआ है कि केले का सेवन डिप्रेशन के रोगियों को आराम देता है. केले में ऐसा प्रोटीन पाया जाता है जो आपको रिलेक्स फील कराता है. यही कारण है कि डिप्रेशन का मरीज जब भी केले का सेवन करता है तो उसे राहत मिलती है.

नई दिल्ली: केला खाने वालों का एनर्जी लेवल साधारण व्यक्ति से ज्यादा होता है. एनर्जी लेवल बढ़ाने के साथ ही केले में विटामिन, आयरन और फाइबर पाया जाता है. एनर्जी से भरपूर होने के कारण एथलीट प्रतिदिन केले का सेवन अवश्य करते हैं. वहीं कुछ लोगों में गलतफहमी होती है कि केले के सेवन से इंसान मोटा हो जाता है. केले के सेवन के साथ वर्कआउट करना जरूरी होता है. यदि आप वर्कआउट कम और केले का सेवन तय मात्रा से ज्यादा करते हैं तो आपके शरीर पर चर्बी बढ़ सकती है. रिसर्च से साफ हुआ है कि केले का सेवन डिप्रेशन के रोगियों को आराम देता है. केले में ऐसा प्रोटीन पाया जाता है जो आपको रिलेक्स फील कराता है. यही कारण है कि डिप्रेशन का मरीज जब भी केले का सेवन करता है तो उसे राहत मिलती है. इसके अलावा केले में पाया जाने वाला विटामिन बी 6 शरीर में ब्लड ग्लूकोज के लेवल को ठीक रखता है.
एनीमिया यानी शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी। यदि आप भी एनीमिया के शिकार हैं तो आपको केला अवश्य खाना चाहिए. केले के सेवन से शरीर में आयरन की कमी धीरे-धीरे कम होती है और आपकी एनीमिया की समस्या में भी सुधार होता है. केला पेट में होने वाली कब्ज की परेशानी से राहत देता है. आप इस्बगोल की भुस्सी या दूध के साथ केले का सेवन प्रतिदिन रात में सोते समय करें. ऐसा करने पर आपको पेट में होने वाली कब्ज और गैस की समस्या से राहत मिलेगी. केले का सेवन शरीर में खून की मात्रा बढ़ाकर शरीर की ताकत बढ़ाता है. केले में पाए जाने वाले फाइबर से पाचन क्रिया सही रहती है। पाचन क्रिया सही रहने का परिणाम यह होता है कि आप तमाम बीमारियों से दूर रहते हैं. यदि आप भी रोजाना केले का सेवन करते हैं तो आपकी पाचन क्रिया अच्छी रहेगी. केला और दूध की खीर को खाने से सुबह या शाम के समय प्रतिदिन खाएं या भोजन करने के बाद दो केला का सेवन नियमित करने से प्रदर रोग में आराम मिलता है.

Leave a Comment